अशोक चक्र प्राप्त करने वाली प्रथम महिला का नाम क्या है?

A. अन्ना चांडी
B. लीला सेठ
C. मीरा साहिब फातिमा बीबी
D. नीरजा भनोट

Correct Answer is D. नीरजा भनोट

डेली करंट अफेयर्स के लिए हमें यूट्यूब पर सब्सक्राइब कीजिए।

अशोक चक्र प्राप्त करने वाली प्रथम महिला नीरजा भनोट के बारे में।

नीरजा भनोट (Neerja Bhanot) भारत में अशोक चक्र प्राप्त करने वाली प्रथम महिला है जिन्हे अशोक चक्र मरणोपरांत प्राप्त हुआ। नीरजा भनोट को यह चक्र या पुरुस्कार उनकी बहादुरी के लिए प्राप्त हुआ था। यह पुरुस्कार उन्हें Pan Am Flight 73 में यात्रा कर रहे यात्रियों को बचाते हुए मरने पर दिया गया। इस फ्लाइट को बॉम्बे से चलकर न्यूयोर्क जाना था जिसमे पाकिस्तान का स्टॉपेज था। 5 सितंबर 1986 को पाकिस्तान के कराची में एक स्टॉपओवर के दौरान आतंकियों द्वारा अपहरण कर लिया गया। जिसमे नीरजा भनोट को अपनी जान गावनि पड़ी। नीरजा भनोट एक ऐसा नाम इतिहास में आ गया जिसे हम हमेशा याद करेंगे। नीरजा भनोट का जन्म सितम्बर, 1963 को हुआ था। उनकी मृत्यु के समय उनकी आयु मात्र 22 वर्ष थी। जिस दिन उनकी हत्या हुई वह दिन 5 सितम्बर को था और सिर्फ 2 दिन बाद ही उनका जन्मदिन था। नीरजा भनोट की मृत्यु के बाद पाकिस्तान में भी उनकी बहादुरी के लिए सराह गया बल्कि यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका में भी उन्हें सराह गया।

पुरुस्कार एवं सम्मान (सभी मरणोपरांत)

  • अशोक चक्र – वर्ष 1987 में भारत में प्राप्त हुआ। नीरजा भनोट भारत में अशोक चक्र प्राप्त करने वाली सबसे कम आयु की महिला थी जिन्हे यह पुरुस्कार मरणोपरांत प्राप्त हुआ।
  • ‘तमगा-ए-पाकिस्तान’ – वर्ष 1987 में, पाकिस्तान ने अविश्वसनीय मानव दया दिखाने के लिए यह पुरस्कार दिया।
  • The USA – वर्ष 1987 में – फ्लाइट सेफ्टी फाउंडेशन हीरोइज़्म अवार्ड से नवाजा गया।

भारत में प्रथम महिला सम्बंधित प्रश्नोत्तर के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हाल ही में लिखा गया